मछली पालन का व्यापार कैसे शुरू करें? (2022) Fish Farming Business In Hindi

Fish Farming Business- मछली खाना तो हम सबको पसंद है और मछली ना सिर्फ स्वाद के मामले में बल्कि शारीरिक स्वास्थ्य के मामले में भी काफी फायदेमंद है कई शारीरिक रोगों में मछलियां काफी फायदेमंद साबित होती हैं. भारत के साथ-साथ पूरी दुनिया के लोग मछलियों को बड़े ही स्वाद से खाते हैं और सभी को मछलिया खाना बेहद पसंद है।

मछली पालन का व्यापार कैसे शुरू करें? Fish Farming Business In Hindi

यही कारण है कि कुछ लोग ऐसे भी हैं जो मछलियां खाने के लिए खुद का प्राइवेट तालाब बनाकर उसमें मछलियां पाल रहे हैं और मछलियां बड़े हो जाने पर तालाब से निकालकर अपने घर में मछलियों की जरूरतों को पूरा करते हैं। आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि मछलियां खाने वाले लोगों की मात्रा कितनी अधिक है और लोग मछलिया खाना कितना पसंद करते हैं।

फिर वह गांव हो या शहर हर जगह के लोग मछलियां खाते हैं। परंतु मछली एक मांसाहारी भोजन है जिसके कारण शाकाहारी भोजन पसंद करने वाले लोग मछली का सेवन नहीं करते हैं।

हमारे पूरे भारत में मछलियां खाने वालों की कोई कमी नहीं है कमी है तो बस मछलियों की जिसके कारण ही मछलियों की कीमत दिन पर दिन बढ़ती जा रही है। क्योंकि मछली पालने वाले लोगों की बेहद कमी है वही खाने वाले की कोई कमी नहीं है जिसके कारण मछलियां की कीमत बढ़ती जा रही है।

ऐसे में अगर मछली पालन का बिजनेस शुरू किया जाए तो इस बिजनेस से काफी अच्छा मुनाफा आराम से कमाया जा सकता है। क्योंकि बहुत ही कम लोग इस बिजनेस को करते हैं और कंपटीशन कम होने के कारण इस बिज़नेस में आसानी से सक्सेसफुल होकर अच्छा पैसा भी कमाया जा सकता है।

अगर आप Fish Farming Business शुरू करना चाहते हैं, तो आज हम आपको Machli Palan Business से जुड़े सभी सवालों के जवाब बताने वाले हैं और साथ ही आप इस बिजनेस को कैसे शुरू कर सकते हैं, इस बिजनेस को शुरू करने की लागत कितनी होगी और आप अपने मछलियों को मार्केट में कैसे बेचेंगे इन जैसे कई सवालों के जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जाएंगे

तो अगर आप Fish Farming जैसे मुनाफे दार बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं, तो चलिए जानते हैं कैसे आप इस बिजनेस को कम लागत के साथ शुरू करके अधिक मुनाफा कमा सकते हैं कैसे आप और एक सीजन में लाखों भी कमा सकते हैं। पूरी जानकारी स्टेप बाय स्टेप जानते हैं बस आप इस आर्टिकल को अंत तक अवश्य पढ़ें

ये भी पढ़े-

मछली पालन का व्यवसाय कैसे शुरू करें? (How To Start Fish Farming Business)

सबसे पहले तो मैं आपको बता दूं कि Machli Palan Ka Business कोई भी आसानी से कहीं भी कर सकता है इसके लिए कोई भी कोर्स नहीं है इसे हर कोई आराम से कर सकता है कम लागत में शुरू होने वाला यह बिजनेस आपको इतना अधिक मुनाफा देता है कि आप सोच भी नहीं सकते

कई लोग ऐसे हैं जो इस बिजनेस को शुरू करना तो चाहते हैं परंतु उनके पास तालाब बनाने लायक जगह नहीं है जिसके कारण वे इस बिजनेस को शुरू करने में असमर्थ हैं पर कई लोग ऐसे हैं जिनके पास तालाब बनाने के लिए कई सारे जगह हैं हैं परंतु वह इस बिजनेस को करना नहीं चाहते हैं।

यही कारण है कि मछलियों की कमी दिन पर दिन होती जा रही है और मछलियों के कीमत में काफी जल्दी बड़ोती देखने को मिल रही है आज के समय में 1 किलो मछली ₹250 से ₹300 में आती है वहीं अगर आप इस बिजनेस को करते हैं तो 1 किलो मछली पालने की कीमत मात्र ₹10 से ₹20 ही आएगा

आप इसी बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि आप इस बिजनेस में कितना मुनाफा कमा सकते हैं। ऐसे में अगर कोई इस बिजनेस को शुरू करना चाहता है तो कैसे शुरू कर सकता है और उन्हें किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए आइए जानते हैं।

मछली पालन में कितनी लागत आती है? (Fish Farming Cost)

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि भारत में मछली पालन बिजनेस काफी जोरों से चल रहा है। परंतु अभी भी कई जगह से हैं, जहां मछली पालन बिजनेस की डिमांड तो है मगर कोई करता नहीं है। ऐसे में उस जगह पर Fish Farming बिजनेस शुरू करके लाखों रुपए कमाया जा सकता है। अगर आपकी नजर में भी कोई ऐसा जगह है जहां आप मछली पालन बिजनेस शुरू करना चाहते हैं, परंतु मछली पालन में कितनी लागत आती है यह सोच रहे हैं। तो चलिए जानते हैं कि Fish Farming Business में कुल कितने लागत आती हैं।

दोस्तों अगर आप सच में मछली पालन बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो लागत की चिंता आप ना करें क्योंकि भारत सरकार की क्रांति योजना के मुताबिक जो भी मछली पालन बिजनेस शुरू करना चाहता है उन्हें इस बिजनेस को शुरू करने के अनुदान के साथ मछली पालने का प्रशिक्षण भी दिया जाता हैं।

भारत सरकार द्वारा कृषि प्रशिक्षण योजना के अंतर्गत किसान मछली पालन के लिए तालाब निर्माण साथ ही उसका सुधारी करण करवा सकता हैं इसके लिए केंद्र सरकार व राज्य सरकार कुल लागत का 50% अनुदान करती हैं। जिसके बाद अगर आप इस बिजनेस को शुरू करना चाहते हैं तो इस बिजनेस की कुल लागत में आपको बस 50% ही अपने जेब से देना है बाकी के 50% केंद्र सरकार और राज्य सरकार आपको देगी

यानी कि आप Fish Farming Business की कुल लागत का मात्र 50% खर्च करके आप इस बिजनेस को बड़े ही आराम से शुरू कर सकते हैं। और अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

मछली पालन में कितना फायदा होता है? (Machli Palan Profit)

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले दो चीजों को ही काफी महत्वपूर्ण माना जाता है। पहला तो बिजनेस की लागत वही दूसरा बिजनेस का मुनाफा इस बिजनेस की लागत को तो हमने जान लिया परंतु इस बिजनेस से हम कितना कमा सकते हैं। अभी तक हमने यह नहीं जाना तो चलिए जानते हैं

वैसे तो मार्केट में आजकल मछलियां काफी कम मिलती है जिसके कारण मछलियों की रेट काफी हाय हो चुकी है ऐसे में जो भी इस बिजनेस को करते हैं उसको मुनाफा काफी अधिक होता है आज मार्केट में 1 किलो मछली की कीमत ₹250 से ₹300 तक आ चुकी है।

ऐसे में अगर हम मछली पालन बिजनेस की कुल कमाई की ओर देखें तो यह निर्भर करता है कि आप दिन के या महीने के कितने किलो मछलियां बेचते हैं। अगर आपका बिक्री अधिक रहेगा तो आप अधिक मुनाफा कमा सकेंगे वहीं कम बिक्री होने पर मुनाफा भी कम होगा

अगर आप डेली के 20 किलो मछलियां भी बेचते हैं तो ऐसे में आप महीने के 1,50,000 से 2,00,000 आराम से कमा सकते हैं अगर आप की बिक्री इससे अधिक होती है तो आपकी कमाई भी अधिक ही होगा। ऐसे में कोशिश करें कि आप की बिक्री अधिक से अधिक होता कि आप अधिक मुनाफा कमा सके

मछली पालन के लिए तालाब (Pond For Fish)

यह तो हम सभी जानते हैं कि मछली पालने के लिए सबसे आवश्यक है तालाब का निर्माण करना जिसमे किसी भी मछलियों को आसानी से पाल सकते हैं। ऐसे में जब बारी तालाब खोदने की आती है तो हमें बहुत सारी बातों का ध्यान रखना पड़ता है अन्यथा हम इस बिजनेस में फेल भी हो सकते हैं और कई ऐसे लोग हैं जो अपने तालाब के चलते ही इस बिजनेस में अपना पैसा और अपना समय दोनों ही डूबा चुके हैं।

दोस्तों क्योंकि मछली पालने के लिए सबसे आवश्यक मछली का घर यानी तालाब होता है, जिसके चलते हमें बहुत सारी बातें जैसे तालाब की गहराई, तालाब की लबाई व चोराई, आदि जैसे बातों का ध्यान रखना पड़ता है ताकि हम अपने बिजनेस में बिना किसी समस्या के कामयाब हो पाए। बहुत बार देखा गया है कि लोग अपने इस बिज़नेस में तालाब के चलते ही अपने बिजनेस को डूबा बैठते हैं। ऐसा गलती आप ना करें और इन सभी बातों का अच्छे से ध्यान रखें।

  1. सबसे पहला काम जो आपको करना है आप जिस भी जगह पर तालाब खुदवा ना चाहते हैं वहां का मट्टी कैसा है इसका जांच जरूर करवाएं, तालाब बनाने से पहले यह एक अहम हिस्सा होता है क्योंकि हर जगह तालाब बनाने लायक मिट्टी नहीं होती ऐसे में आप तालाब बनाने से पहले मिट्टी और उस जगह का जांच जरूर कराएं
  2. तालाब बनाते समय तालाब की लंबाई व चौड़ाई भी काफी मायने रखती है। अगर आप तालाब बनवाना चाहते हैं Fish Farming के लिए तो हमेशा आप अपने तालाब को जितना हो सके उतना लंबा और चौड़ा करें। क्योंकि जितना बड़ा तालाब होता है उसमें मछली का पालन पोषण भी उतना ही अच्छी तरीके से हो पाता है। तालाब बड़ा होने के कारण आप एक बार में अधिक संख्या में मछली को पाल के अधिक मुनाफा भी कमा सकते हैं। मछली पालन बिजनेस में तालाब का बड़ा होना एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी है इस बिजनेस को कामयाब बनाने में, तो आप जब भी तालाब बनाए तो जितना हो सके बड़ा ही बनाए
  3. तालाब बनाने के बाद भी हमें कई बातों का ध्यान रखना पड़ता है और कई ऐसे काम है जिससे तालाब बनाने के बाद करना पड़ता है। ताला बनाने के बाद मछलियां देने से पहले तालाब का रिसाव जरूर चेक करें अगर तालाब में रिसाव हो रही है तो यह एक प्रकार से आपके तालाब के लिए अच्छा नहीं है ऐसे में पानी की कमी हमेशा आपके तालाब में रहेगी जिसके कारण मछलियां अच्छे से बड़ी नहीं हो पाएगी और आपको हमेशा अपने तालाब में पानी डालना पड़ेगा इसीलिए तालाब बनाने के बाद आप 2 या 4 दिन पानी डालकर छोड़ दें जिससे आपको यह पता चल जाएगा कि तालाब में रिसाव हो रहा है या फिर नहीं।
  4. तालाब बनाने के बाद तालाब को साफ करने के लिए फर्टिलाइजर वह गोबर का इस्तेमाल करें ताकि तालाब साफ रहे और गोबर से मछलियों को भोजन मिलती रहे।
  5. तालाब आप उस जगह बनाया और ऐसा बनाएं ताकि बारिश का पानी आसानी से आता और जाता रहे, ताकि तालाब का पानी बदलता रहे ऐसे में तालाब हमेशा साफ रहेगा और मछलियां भी स्वस्थ रहेगी इससे बार-बार आपको तालाब का पानी बदलने या फिर तालाब में पानी डालने की जरूरत नहीं पड़ेगी

इन सभी पांचों बातों का आप हमेशा ध्यान रखें उसके बाद ही तालाब का काम शुरू करवाएं और तालाब बना लेने के बाद भी हमेशा तालाब की साफ सफाई करते रहें। क्योंकि ज्यादा गंदगी होने पर मछलियां अच्छे से बड़े नहीं हो पाती और कई बार ऐसा भी देखा गया है कि मछलियां मरने लग जाती हैं। इसीलिए अपने तालाब और मछलियों का देखभाल अच्छे से करें

मछलियों के लिए खाना (Food For Fish in Hindi)

Fish Farming Business In Hindi

हर जीव प्राणी का मुख्य स्रोत भोजन होता है जिसके बिना किसी भी जीव का रहना असंभव है। मछली भी एक जीव है जिसके कारण मछली भी भोजन करती हैं, ऐसे में मछलियों का भोजन कई प्रकार से होता है। मछलियां पानी में रहने वाले कई प्रकार के कीड़े को खाकर अपना पेट भर्ती है, वहीं अगर आप मछलियों को पालते हैं तो मार्केट में बिकने वाले कई प्रकार के मछली आहार भी दे सकते हैं।

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया कि तालाब बनाते समय हमें गोबर का इस्तेमाल करना चाहिए और तालाब को इस तरह बनाना चाहिए कि मछलियों को तालाब के अंदर भोजन मिलता रहे क्योंकि भोजन मछलियों की वृद्धि का एक बड़ा जरिया है।

अगर आप मछली पालन बिजनेस करके मछलियों को बड़े पैमाने पर बेचना चाहते हैं, तो उसके लिए आपको मछलियों के भोजन पर विशेष ध्यान देना पड़ेगा। प्राकृतिक भोजन के साथ-साथ मछलियों को कई प्रकार के मार्केट में बिकने वाले भोजन भी देना आवश्यक है जिससे मछली जल्दी से जल्दी विकसित होगी

ऐसे में अगर आपके तालाब से मछलियों को प्राकृतिक भोजन मिल रहा है तो साथ ही कुछ मात्रा में मार्केट में बिकने वाले भोजन भी देते रहें ताकि जल्दी से जल्दी मछली विकसित हो पाए

मछली पालने के नियम (Fishing Cradle Rules in Hindi)

Fish Farming बिजनेस जितना मुनाफे दार है उतना ही हमें इसका देखभाल करना भी पड़ता है जिसके बाद ही मछली को बेचकर हम अच्छे मुनाफा कमा सकते हैं आइए जान लेते हैं कि मछली पालने के नियम क्या क्या है और किस तरह हम मछली को अच्छी तरीके से पाल सकते हैं।

सबसे पहले तालाब में मछलियों के लिए प्राकृतिक भोजन रहना बेहद आवश्यक है, इसके लिए आपको समय-समय पर गोबर अपने तालाब में डालना चाहिए जिससे तालाब के अंदर छोटे-छोटे पेड़ पौधे हो जाते हैं और उससे मछलियां अपना भोजन बनती हैं। 

परंतु वही अगर बड़े पैमाने पर मछलियों को पाला जाए तो मछलियों के लिए प्राकृतिक खाना काफी नहीं रहेगा बल्कि कुछ कुछ समय पर मार्केट में मिल रहा आर्टिफिशियल भोजन भी मछलियों को देना पड़ता है जिससे मछलियां ज्यादा तेजी से विकसित हो पाती हैं।

इसी के साथ ही मछलियों को जितना हो सके साफ पानी में रखे यानी कि तालाब का पानी हमेशा साफ रखें ज्यादा गंदगी होने पर मछलियां मरने का खतरा बढ़ जाता है। इससे आप जो भी मछली के बच्चे तालाब में देंगे वह ज्यादातर कर के मर जाएंगे इसीलिए हमेशा तालाब का पानी साफ करने के बाद ही मछलियों को तालाब में दें

मछलियों का देख भाल करें (Look After The Fish)

Fish Farming Business के लिए मछली का देखभाल करना बेहद जरूरी काम है क्योंकि कई बार ऐसा होता है कि मछलियां किसी कारणवश मरने लग जाती हैं, या फिर उस में कुछ खराबी देखने को मिलता है।

जिसके कारण आपको कुछ नुकसान भी उठाना पड़ सकता है नुकसान ना हो इसके कारण मछली का देखभाल करना बेहद आवश्यक है और यह काम कैसे करें हम किस तरह से मछलियों का देखभाल कर सकते हैं और कैसे किया जाता है वह मैं आपको बताता हूँ

कम पानी होने के कारण भी मछलियां मरने लग जाती हैं ऐसे में आपके तालाब का पानी हमेशा एक लेवल पर होना चाहिए। 6 से 7 फीट पानी तालाब में रहना अनिवार्य है, इसमें मछली की ग्रोथ काफी अच्छी होती है। अगर तालाब का पानी कम हो रहा है, तो आप अपने तालाब में धीरे-धीरे करके पानी भरे जिससे पानी साफ भी होगा और पानी की मात्रा भी अधिक होगी जिससे मछलियों का फलना फूलना ज्यादा हो जाएगा और मछलियां अच्छे से ग्रोथ कर पाएगी

पानी साफ ना हो और उसमें ज्यादा गंदगी हो तो समय-समय पर आप तालाब में चुना जरूर मारे इससे तालाब का पानी साफ रहेगा और कई बैक्टीरिया भी मर जायेगा।  जिससे मछलियां हल्दी और स्वस्थ रहती हैं पर जब भी आप तालाब में चुना मारे तो साल में एक या दो बार ही मारे इससे ज्यादा ना मारे इससे आपके मछलियों को भी खतरा हो सकता है।

मछली की मार्केटिंग कैसे करें? (How To Market Fish in Hindi)

मछलियों को आप अपने नजदीकी मार्केट में जाकर बेच सकते हैं आप जहां भी Fish Farming Business को शुरू किए हैं उनके आसपास के जितने भी मार्केट हैं आप वहां पर जाकर अपने मछलियों को बेच सकते हैं।

क्योंकि भारत के अंदर हर जगह हर किस्म के लोग मछलियां खाना पसंद करते हैं। जिसके कारण मछलियों की डिमांड हर जगह हर छोटे बड़े गांव शहर में है। ऐसे में आप अगर अपने नजदीकी मार्केट में जाकर मछलियों को अच्छे कीमत पर बेचते हैं तो आप की मछली जरूर ज्यादा से ज्यादा बिकेगी

इसी के साथ ही एक और तरीका है मछली बेचने का वह है, मछली बेचने वाले लोगों से संपर्क करें जो लोग मछली खरीद कर मार्केट में मछली बेचते हैं आप उनसे भी संपर्क कर सकते हैं और इस तरह से आप अपने तालाब के मछलियों को आसानी से बेच सकते हैं।

अंतिम दो शब्द-

इसी के साथ हमारा आज का यह आर्टिकल समाप्त होता है और मैं उम्मीद करता हूं कि आपको Fish Farming Business Plan In Hindi से जुड़ा सभी जानकारी प्राप्त हो चुका होगा। अगर आपको हमारा यह लेख पढ़ने में भी अच्छा लगा हो तो हमे कमेंट जरूर करें

ये भी पढ़े-

Leave a Comment